प्रेम कहानी का खौफनाक अंत: प्रेमिका ने पीछे से पकड़ा और दोस्त ने गमछे से दबाया गला, युवती ने अपने प्रेमी की कर दी हत्या * ENTV

प्रेम कहानी का खौफनाक अंत: प्रेमिका ने पीछे से पकड़ा और दोस्त ने गमछे से दबाया गला, युवती ने अपने प्रेमी की कर दी हत्या

जौनपुर जिले के जफराबाद थाना क्षेत्र के समोपुर कला गांव में हुई बाइक मैकेनिक दीपक यादव हत्या का पुलिस ने शुक्रवार को पर्दाफाश कर दिया। थानाध्यक्ष योगेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मृतक जिस लड़की से प्यार करता था, वो उसके दोस्त से भी प्यार करने लगी थी। जिसकी भनक लगने पर दीपक दोस्त से मिलने पर पाबंदी लग रहा था। साथ ही उसे अपने साथ मुंबई चलने का दबाव बना रहा था, लेकिन, वो उसके दोस्त से दूर नहीं जाना चाह रही थी, जिसके चलते दोनों ने प्लानिंग के तहत मिलकर मंगलवार की रात बुलाकर उसकी हत्या कर दी थी। इसके बाद उसके शव को घर से 500 मीटर दूर एक चिलबिल के पेड़ के नीचे रख दिया था।
पुलिस के अनुसार, जफराबाद थाना सम्मोपुर कला गांव निवासी मुन्ना लाल यादव का बेटा दीपक यादव(22) गांव के ही एक इंद्रजीत के साथ एक दुकान पर बाइक मैकेनिक था। दोनों में दोस्ती भी थी। दीपक गांव की ही युवती से करीब दो साल से प्यार करता था। उसने युवती को एक मोबाइल भी दिया था। वह समय-समय पर मोबाइल का सिमकार्ड भी बदल देता था, ताकि वह किसी और से बात नहीं कर पाए।
दोनों के प्रेम कहानी की जानकारी दीपक के दोस्त व युवती के पड़ोसी इंद्रजीत को भी थी, जो युवती को धीरे-धीरे चाहने लगा था, बाद में वह भी इंद्रजीत को चाहने लगी। युवती ने चोरी-छिपे दोनों दोस्तों को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। इसकी भनक दीपक को दो माह पहले लग गई, जिस पर उसने अपनी प्रेमिका को इंद्रजीत के नजदीक न जाने की सलाह दी थी। साथ ही बार-बार मुंबई भाग चलने की बात करता था, लेकिन, वह तैयार नहीं थी।
इस पर वह आत्महत्या करने तक की धमकी देता था। जिसे लेकर युवती तनाव में रहने लगी थी, उसने पूरी कहानी इंद्रजीत से बताई और यह भी कहा कि वह उसे दूर करना चाहता है। इस पर इंद्रजीत ने युवती को पाने के लिए उसके साथ मिलकर प्लानिंग के तहत फोन कर मंगलवार की रात दीपक को बुला लिया, जिसके बाद युवती ने दीपक को पीछे से पकड़ लिया, जबकि इंद्रजीत ने उसका गमछे से गला दबा दिया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों ने मामले को आत्महत्या का रूप देने की भी कोशिश की थी। लेकिन, मृतक के परिजनों के शक, खोजी कुत्ते के सुराग और कॉल डिटेल्स खंगाले जाने के बाद संदेह के दायरे में आ गए और तीन दिन लगातार पूछताछ में सच सामने ला दिया। पुलिस ने मृतक की मां गुलाबी देवी की तहरीर पर उसके मित्र इंद्रजीत तथा प्रेमिका पर हत्या का मुकदमा दर्ज  न्यायालय भेज दिया।

पहले इंद्रजीत ने सुनाई थी ये कहानी
संदेह होने पर पुलिस ने दोनों को घटना के ही दिन हिरासत में ले लिया था। पुलिस के मुताबिक पूछताछ के दौरान इंद्रजीत निषाद ने पहले कहा था कि उसका दोस्त दीपक अपनी प्रेमिका से मिलने मंगलवार की रात को गया था। उसके बाद उसकी प्रेमिका प्रीति यादव ने फोन करके उसे अपने पास बुलाया और कहने लगी दीपक उससे मुंबई भाग चलने की जिद कर रहा है। उसने जब भागने से इनकार कर दिया तब आत्महत्या करने की धमकी देते हुए नदी की तरफ गया है। यह सुनकर हम दोनों नदी के पास गए। जहां एक पेड़ के पास उसकी लाश थी। यह देख दोनों भाग आए।
Spread the News
%d bloggers like this: