पटना यूनिवर्सिटी के हॉस्‍टल में छापेमारी, पटेल छात्रावास में मिली बम बनाने की सामग्री * ENTV

पटना यूनिवर्सिटी के हॉस्‍टल में छापेमारी, पटेल छात्रावास में मिली बम बनाने की सामग्री

अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) को लेकर बिहार की राजधानी पटना (Patna) में उपद्रवी फिर से हंगामा और तोड़फोड़ कर सकते हैं. आईबी के द्वारा इस बात की आशंका जाहिर की गई है. आईबी ने अपने अलर्ट (IB Alert) में कहा है कि पटना में उपद्रव होने की आशंका है. आईबी के अलर्ट के बाद पटना पुलिस (Patna Police) एक्शन मोड में आ गई है. पुलिस मुख्यालय के द्वारा सभी थानों को अलर्ट मोड में रहने को कहा गया है. इसके बाद शनिवार की रात से पटना में सिटी एसपी के नेतृत्व में पुलिस टीम के द्वारा पटना विश्वविद्यालय के सभी हॉस्टल, पटेल छात्रावास और सैदपुर छात्रावास में एक साथ छापेमारी की गई.

 

पटना पुलिस ने रविवार को भी कई इलाकों में छापेमारी अभियान चलाया. पुलिस की इस टीम में जिला पुलिस बल के अलावा बिहार सैन्य पुलिस के जवान भी शामिल थे.

 

पटेल छात्रावास में छापेमारी के दौरान पुलिस टीम ने वहां से बम बनाने का सामान जब्त किया. इसको लेकर पटना के कदमकुआं थाना में अज्ञात छात्रों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. पटना के सिटी एसपी सेंट्रल अंबरीश राहुल ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि कुछ संदिग्ध युवकों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है. उन्होंने बताया कि पिछले दिनों हुए उपद्रव, हंगामा और तोड़फोड़ के दौरान जो लोग गिरफ्तार किए गए हैं उनमें से कई के संबंध हॉस्टल और लॉज से है.

 

अग्निपथ योजना के खिलाफ जमकर हुई थी हिंसा और उपद्रव

बता दें कि सेना में भर्ती के लिए केंद्र की अग्निपथ योजना के विरोध में पिछले दिनों पटना और दानापुर जंक्शन पर उपद्रवियों ने जमकर तोड़फोड़ और हिंसक प्रदर्शन किया था. इस दौरान फरक्का एक्सप्रेस और यार्ड में खड़ी ट्रेन में आग लगा दी गई थी. इसके अलावा, तारेगना में भी उपद्रवी तत्वों के द्वारा आगजनी और तोड़फोड़ की गई थी.

 

ऐसे में एक बार फिर से हिंसा और उपद्रव की आशंका के मद्देनजर आईबी के द्वारा पटना पुलिस मुख्यालय को जो अलर्ट जारी किया है गया उसे लेकर पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है. पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मानवजीत सिंह ढिल्लों ने सबसे यह अपील की है कि अगर कोई भी असामाजिक तत्व सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है तो इसकी सूचना फौरन पुलिस को दें जिससे कि उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सके.

 

 

Spread the News
%d bloggers like this: