डेराबस्सी का ASI गोलीकांड:अभी दर्ज नहीं हुआ केस; SHO बोले- सीनियर अफसर कर रहे जांच, बनती कार्रवाई की जाएगी * ENTV

डेराबस्सी का ASI गोलीकांड:अभी दर्ज नहीं हुआ केस; SHO बोले- सीनियर अफसर कर रहे जांच, बनती कार्रवाई की जाएगी

पंजाब के डेराबस्सी कस्बे में पंजाब पुलिस के एएसआई द्वारा एक व्यक्ति की जांघ में गोली मारी गई थी। मामले में अभी तक पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है। डेराबस्सी थाने के एसएचओ जसकंवल सिंह ने कहा कि मामले की जांच सीनियर अफसरों की अगुवाई में चल रही है। इसके बाद ही बनती कार्रवाई की जाएगी।

वहीं जिस नौजवान की जांघ में गोली लगी थी, उसकी हालत खतरे से बाहर है। जीएमसीएच-32 में उसका इलाज करवाया जा रहा है। घटना की जो वीडियो सामने आई है, उसमें घायल पुलिस को ललकार रहा है, जिसके बाद पुलिस अफसर से उस पर गोली चला दी। आरोपी का कहना है कि मामले में परिवार बेकाबू हो रहा था।

जान बचाने को लेकर कमर से नीचे गोली चलाई गई। डेराबस्सी के हाबेतपुर गांव के चैक पोस्ट पर पुलिस टीम मौजूद थी। रात को 10.45 बजे के लगभग घटना घटी। पुलिस वाहन चालकों को रोककर उनसे पूछताछ कर रही थी। इस दौरान मोटर साइकिल पर आ रहे एक दंपति को रोककर महिला को बैग चैक करवाने को कहा गया।

मना करने पर दंपति की पुलिस से बहस हो गई। इतने में महिला ने अपने भाई हितेश को बुला लिया, जो अपने साथ एक और बहन को ले आया था। यहां परिवार की पुलिस के साथ बहस बढ़ गई। हितेश के मुताबिक, उसके जीजा और बहन हाबेतपुर रोड पर थे। यहां पुलिस ने उन दोनों के साथ बदतमीजी शुरू कर दी। इसके बाद दोनों पक्षों में बहस हुई और पुलिस अफसर ने तैश में आकर गोली चला दी।

बैग चैक न करवाने से बिगड़ी बात

मिली जानकारी के मुताबिक, घायल की बहन और जीजा को शक था कि पुलिस उन्हें झूठे केस में फंसा सकती है। ऐसे में बैग चैक करवाने से मना कर दिया गया था। परिवार का यह भी आरोप था कि गोली चलाने वाला मुबारिक पुर पुलिस चौकी इंचार्ज बलविंदर नशे की हालत में था।

वहीं पुलिस पार्टी का कहना है कि परिवार पुलिस पर डंडों और ईंटों से हमला कर रहा था। पुलिस वाहन को भी नुकसान पहुंचाया गया। ऐसे में आत्मरक्षा में यह कदम उठाया गया। पहली फायरिंग हवा में की गई थी। इसके बावजूद आरोपी नौजवान और परिवार आगे बढ़ता रहा, जिसके बाद गोली चलानी पड़ी।

Spread the News
%d bloggers like this: