प्रतिभा सिंह की रैली के बाद नाहन में विक्रमादित्य की रैली में आपस में भिड़े कांग्रेस कार्यकर्ता * ENTV

प्रतिभा सिंह की रैली के बाद नाहन में विक्रमादित्य की रैली में आपस में भिड़े कांग्रेस कार्यकर्ता

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस द्वारा जिला सिरमौर से शुरू की गई रोजगार संघर्ष यात्रा में एक बार फिर कांग्रेस की गुटबाजी सामने आने लग पड़ी है। शनिवार को नाहन विधानसभा क्षेत्र में माजरा से जैसे ही रोजगार संघर्ष यात्रा की शुरूआत हुई। तो अजय सोलंकी गुट व मोहम्मद इकबाल चौधरी गुट में एक बार फिर गुटबाजी नजर आने लगे। मिश्रवाला में दोनों गुटों के बीच तीखी नोकझोंक व झड़प हुई। नाहन माल रोड पर पहुंचते-पहुंचते यह गुटबाजी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में मारपीट तक पहुंच गई। शहर के माल रोड पर कांग्रेस के दो गुटों में शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह के सामने जमकर झड़प हुई।

इससे पहले नाहन विधानसभा क्षेत्र के सलानी में 12 जून को जिला सिरमौर में पहली बार प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहुंची सांसद एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के सामने भी कांग्रेस में जमकर गुटबाजी व धक्का-मुक्की हुई थी। एक सप्ताह पूर्व पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के राजगढ़ दौरे के दौरान भी दयाल प्यारी गुटबाजी और जीआर मुसाफिर गुट ने भी सांसद प्रतिभा सिंह का अलग-अलग स्वागत कर गुटबाजी जग जाहिर हुई थी। जिला सिरमौर में कांग्रेस की गुटबाजी अब अपने चरम पर पहुंच चुकी है। यहां के पांचों विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस से कई कई चेहरे टिकट के दावेदार हो गए हैं। जोकि प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के कार्यक्रमों में अपना अपना प्रदर्शन कर गुटबाजी को और हवा दे रहे हैं। शनिवार को मिश्रवाला से बोहलियो तक दोनों गुटों ने अपने अपने नेताओं के पोस्टर बाइकों पर चस्पा किए हुए थे तथा अपने अपने नेताओं के नारेबाजी कर रहे थे।

कांग्रेस की इस रोजगार संघर्ष यात्रा में कांग्रेस के पदाधिकारियों के चेहरों पर तनाव साफ झलक रहा था। जबकि कांग्रेस पदाधिकारियों के बीच बचाव के बाद झड़प को समाप्त कर दिया गया। मगर एक बार फिर नाहन विधानसभा क्षेत्र की गुटबाजी पूरे प्रदेश के सामने आ गई। विदित रहे कि गत माह शिमला से नाहन लौटते वक्त पांवटा के पूर्व विधायक करनेश जंग चौधरी तथा कांग्रेस सचिव रूपेंद्र ठाकुर के बीच मारपीट हुई थी तथा इस मारपीट का यह मामला पुलिस थाने तक पहुंचा, जिसमें कि एफआईआर भी हुई है। नाहन विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के कई पदाधिकारी अपने वर्चस्व की जंग लड़ रहे हैं। जोकि कांग्रेस के लिए अब घातक सिद्ध होंगी। रोजगार संघर्ष यात्रा के लिए कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष इकबाल चौधरी ने अपने होर्डिंग लगाए थे जबकि प्रदेश उपाध्यक्ष अजय सोलंकी ने अलग से अपने होर्डिंग लगाए हुए थे। जिसको लेकर विक्रमादित्य ने नाराजगी भी जताई तथा सभी को एकजुट होने तथा चुनाव में जिस भी प्रत्याशी को टिकट मिलेगा, उसे जिताने के लिए नसीहत दी।

Spread the News
%d bloggers like this: