इंग्लैंड को हराकर भारतीय महिला टीम फाइनल में पहुंची, पदक किया पक्का * ENTV

इंग्लैंड को हराकर भारतीय महिला टीम फाइनल में पहुंची, पदक किया पक्का

कॉमनवेलथ गेम्स 2022 के पहले सेमीफाइनल में भारतीय महिला टीम का सामना इंग्लैंड की टीम के साथ बर्मिंघम में हुआ। इस मुकाबले में भारतीय टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने टॉस जीतकर इंग्लैंड के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। पहली पारी में स्मृति मंघाना की तूफानी फिफ्टी और जेमिमा के 44 रन की पारी के दम पर भारत ने 5 विकेट पर 164 रन का स्कोर खड़ा किया और फाइनल में पहुंचने के लिए इंग्लैंड की टीम को 165 रन का लक्ष्य मिला। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट पर 160 रन बनाए और उसे 4 रन से हार मिली। वहीं इस जीत के साथ ही भारतीय महिला टीम फाइनल में पहुंच गई और एक पदक पक्का कर लिया।

इंग्लैंड की पारी

भारत के खिलाफ 165 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लिश टीम ने तेज शुरुआत की। दीप्ति शर्मा ने सोफिया डंक्ले को 19 रन पर आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई। 13 रन बनाकर रन चुराने के चक्कर में एलिस कैप्सी अपना विकेट गंवा बैठी। तनिया भाटिया के थ्रो पर स्नेह राणा ने उनको रन आउट किया। खतरनाक दिख रही डैनी वायट को 35 रन के स्कोर पर बोल्ड कर भारत को बड़ी सफलता दिलाई। एमी जोन्स को 31 रन के स्कोर पर रन आउट कर राधा यादव और स्नेह राणा ने टीम को लिए बड़ी कामयाबी हासिल की। स्कीवर 41 रन बनाकर रन आउट हो गई। ब्रंट को स्नेह राणा ने डक पर आउट कर दिया। इंग्लैंड के छह में से तीन विकेट रन आउट के तौर पर गिरे जबकि स्नेह राणा को 2 विकेट तो वहीं दीप्ति शर्मा को एक सफलता मिली।

 

भारत की पारी, मंधाना का अर्धशतक

कप्तान हरमनप्रीत कौर ने इंग्लैंड के खिलाफ टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुना। पारी की शुरुआत करने स्मृति मंधाना के साथ शेफाली वर्मा की जोड़ी मैदान पर उतरी। ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए मंधाना ने महज 23 गेंद पर 8 चौके और 2 छक्के की मदद से अर्धशतक पूरा किया। पारी की बदौलत भारत ने महज 4.3 ओवर में ही अपने 50 रन पूरे कर लिए। भारत का पहला विकेट शेफाली के रूप में गिरा जब वह 15 रन बनाकर केंप की गेंद पर ब्रंट को कैच दे बैठीं। शानदार लय में नजर आ रही मंधाना विकेट के पीछा शॉट लगाने की कोशिश में अपना विकेट गंवा बठी। 32 गेंद पर 8 चौके और 3 छक्के की जमाते हुए उन्होंने 61 रन की शानदार पारी खेली।

दो लगातार विकेट गिरने के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर ने जोमिमा रोड्रिगेज के साथ मिलकर टीम को संभाला और पारी आगे बढ़ाते हुए स्कोर 100 रन तक पहुंचाया। आक्रामक शॉट लगाने की कोशिश में 20 रन बनाकर फ्रेया केंप की गेंद पर माया बूशेर की शानदार कैच पर वापस लौटी। जेमिमा ने 31 गेंद पर 7 चौके की मदद से 44 रन की पारी खेलकर टीम को 164 रन के स्कोर तक पहुंचाया।

 

 

 

Spread the News
%d bloggers like this: